Hindi, Poem

हर रात सोता है

बदतमीज़ सा है दिल मेरा, शैतानियां करता है. बेमुकम्मल इश्क करके भी, हर रात सोता है. आवारो के तरह भटकता है, मंज़िल की खोज में. फिर भी अकेला हो कर भी, हर रात सोता है. बगावत करके लड़ता है, अपने जज़्बातों से. अनजाना सा रह कर भी, हर रात सोता है. अपने माशूका की याद… Continue reading हर रात सोता है

Advertisements
Hindi, Poem

यह दिल भरेगा नहीं

अश्कों में तुम्हे याद किया, दिल में तुम्हे बसाया. तुम्हारे लौट आने पर, मेरा सुकून लौट आया. इतवार की हर शाम में, तुम नज़्म सा याद आयी. तुमसे जुडी हर बात ने, तुम्हारी झलक दिखलाई. बस तुम इस बार ठहर जाना, यह दुआ दिल ने मांगी. पर तुम्हारे संग रहकर भी, यह दिल भरेगा नहीं.

Hindi, Poem

एक पहेली तेरे जैसी

एक पहेली तेरे जैसी, आज सुलझाने बैठा हूँ. पर न जाने क्यों, खुद उलझ जाता हूँ. कुछ अलग सी है तू, एक दम पहेली जैसी. पता नहीं कभी दोस्त, और कभी अजनबी बन जाती. इसलिए एक पहेली तेरे जैसी, आज सुलझाने बैठा हूँ. अजीब सा हमारा रिश्ता है, एक दम पहेली जैसा है. बेगाना हो… Continue reading एक पहेली तेरे जैसी

Loving My Crush's Brother

Chapter 1 | Loving My Crush’s Brother

The vacations had finally ended. It was time to go back to school. I was damn excited to meet Nayra, my best friend since kindergarten. She would be so happy to see me. This summer had been special for me. From being the fat girl to becoming the slim and hot babe, it was so… Continue reading Chapter 1 | Loving My Crush’s Brother